यूपी बोर्ड 28 साल पुराने रिकॉर्ड करेगा ONLINE, छात्रों को नहीं लगाने पड़ेंगे कार्यालयों के चक्कर

loading...

लखनऊ। यूपी बोर्ड से पास हुए करोड़ो छात्र-छात्राओं के लिए राहत भरी खबर है। यूपी बोर्ड 1975 से 2002 तक के हाईस्कूल और इंटरमीडियट के सारे रिकॉर्ड्स ऑनलाइन करने जा रहा है। खबरों की मानें तो यूपी बोर्ड परिसर में सारे द्वारा एक साल के अंदर सारे रिकॉर्ड्स स्कैन करने के बाद इंटरनेट पर अपलोड कर दिये जाएंगे। यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने कहा कि 2003 से पहले 1975 तक के दस्तावेज डिजिटाइज करने का निर्देश शासन से मिला है। सालभर के अंदर यह काम पूरा होना है।2003 के बाद के सारे रिकॉर्ड बोर्ड की वेबसाइट www.upmsp.nic.in पर उपलब्ध हैं, लेकिन 2003 के पहले के रिकॉर्ड डिजिटल फार्म में नहीं है।
बता दें कि 2003 से पहले 1975 तक के रिकॉर्ड वेबसाइट पर न होने के कारण लोगों को सत्यापन के लिए बोर्ड ऑफिस के चक्कर काटने पड़ते थे। 1984 के बाद के 10वीं और12वीं के दस्तावेज इलाहाबाद, वाराणसी, बरेली व मेरठ क्षेत्रीय कार्यालयों में उपलब्ध हैं। जबकि 1984 और उससे पहले के रिकार्ड यूपी बोर्ड के मुख्यालय में सत्यापन के लिए अभ्यर्थियों को क्षेत्रीय कार्यालयों और मुख्यालय के चक्कर लगाने होते हैं। रिकार्ड ऑनलाइन होने पर एक क्लिक पर सत्यापन हो जाएगा। साथ ही ओरिजनल रिकॉर्ड से छेड़छाड़ भी लगभग बंद हो जाएगी।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment