गुजरात राज्यसभा चुनाव: EC ने कांग्रेस के हक में सुनाया फैसला, दोनों विवादित वोट रद्द

loading...

अहमदाबाद। गुजरात राज्यसभा में तीन सीटों के लिए हुए चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले शंकर वाघेला गुट के दोनों विधायकों के वोट रद्द कर दिये गये हैं। चुनाव आयोग ने बीजेपी लंबी जद्दोजहद के बाद ये फैसला लिया। कांग्रेस की ओर से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल को जीतने के लिए 45 वोट चाहिए थे, लेकिन कांग्रेस के दो विधायकों ने क्रॉस वोटिंग कर पूरा समीकरण बिगाड़ दिया। इन कांग्रेसी विधायकों ने बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में वोट के साथ ही मतपत्र तीनों को दिखा दिया। जिसके बाद कांग्रेस ने एतराज जताते हुए चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया।
कांग्रेस के बाद बीजेपी फिर कांग्रेस ने बारी बारी से अपनी दलीलें पेश कीं। आखिर में आयोग ने दोनों विधायकों के वोट रद्द कर दिये। बता दें कि राज्यसभा की तीन सीटों पर 176 विधायकों ने वोट डाले हैं। बीजेपी ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए बलवंतसिंह राजपूत को मैदान में उतारा है। वहीं कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल मैदान में हैं।
कांग्रेस और बीजेपी की अपनी-अपनी दलीलें
कांग्रेस को समर्थन का वादा करने वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के एक विधायक ने भी क्रॉस वोटिंग की। जनता दल युनाइटेड के महासचिव ने कहा कि राज्य से उनकी पार्टी के एकमात्र विधायक ने भाजपा के पक्ष में मतदान किया, वहीं खुद विधायक का कहना है कि उन्होंने पटेल के पक्ष में मतदान किया है। कांग्रेस द्वारा आयोग से शिकायत करने के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के नेतृत्व में भाजपा के वरिष्ठ मंत्रियों ने आयोग से मुलाकात की और कांग्रेस पर चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने का आरोप लगाया।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment