पूर्व CIA एजेंट का बड़ा खुलासा- अलकायदा ने नहीं, अमेरिका ने किया था 9/11 अटैक

वाशिंग्टन (एजेंसी) अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पूर्व एजेंट माल्कम हावर्ड ने वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले चौंकाने वाले खुलासे किये हैं। जिंदगी के आखिरी पलों को जी रहे हावर्ड ने कहा कि मेरे पास अब कुछ ही वक्त बाकी है और वो ये बताना चाहते हैं कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर धमाके की साजिश में वो शामिल थे। हावर्ड ने सीआईए के लिए एक ऑपरेटर के रूप में साल तक काम किया है। सिविल इंजीननियर के रूप में ट्रेंड हावर्ड 80 के दशक की शुरुआत में सीआईए में शामिल होने के बाद एक विस्फोटक विशेषज्ञ बन गए थे।
हावर्ड के मुताबिक वह एक सच्चे देशभक्त हैं इसलिए उन्होंने व्हाइट हाउस या सीआईए के फैसलों पर कभी कोई सवाल नहीं खड़ा किया, लेकिन अब उन्हें ऐसा लगता है कि कहीं कुछ ऐसा था जो सही नहीं था। उन्होंने कहा कि ये विस्फोटकों के साथ एक क्लाससिक नियंत्रित विध्वंस  था। हमने विस्फोटकों के रूप में सुपर फाइन लैंड ग्रेड नैनोथर्माइट कंपोजिट सामग्री का इस्तेमाल किया।

loading...

loading...

बिल्डिंग का हज़ारों पाउंड विस्फोटक, फ्यूज और प्रज्वलन तंत्र ले जाना सबसे मुश्किल काम था । लेकिन बिल्डिंग 7 में लगभग हर एक कार्यालय में सीआईए, सीक्रेट सर्विस या सेना द्वारा किराए पर लिया गया था, जिसने इसे आसान बना दिया। 11 सितंबर को जब उत्तर और दक्षिण टावर जला तब वर्ल्ड सेंटर 7 में फ्यूल जला दिया गया और नैनोथर्माइट विस्फोटकों ने इमारत को नष्ट कर दिया जिससे वर्ल्ड ट्रेड ताश के पत्तोंकी तरह बिखर गया।
अमेरिकी सरकार द्वारा जारी 9/11 के आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ल्ड ट्रेड सेंटर 7 अनियंत्रित आग के कारण ढह गया। अगर ये सच था तो वर्ल्ड ट्रेड सेंटर दुनिया की पहली ऐसी बिल्डिंग हुई जो अनियंत्रित आग की वजह से गिर गई । हमें लगा था कि जनता सब सच जान जाएगी और गड़बड़ हो जाएगा । राष्ट्रपति बुश को भी जाना होगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। जनता इस बारे में जान नहीं पाई और कहीं कोई सवाल नहीं उठा । पूरा सिस्टम ये साबित करने में कामयाब रहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के पीछे आतंकवादियों (अलकायदा) का हाथ था।

 

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment