AIR INDIA को खरीदकर ‘घर वापसी’ कर सकत है TATA

नई दिल्ली। कर्ज में डूबी एयर इंडिया को खरीदकर टाटा ग्रुप ‘घर वापसी’ कर सकता है। जी हां, सूत्रों के हवाले से खबर है कि लंबे समय से घाटे में चल रही एयर इंडिया अभी सरकार से मिले पैकेज के दम पर चल रही है। एक ओर नीति आयोग ने एयरलाइन के पूर्ण निजीकरण का सुझाव दिया है, वहीं  सरकार इसे फिर से बेहतर स्थिति में लाने के लिए कई विकल्पों पर विचार कर रही है। सरकार की ओर से टाटा ग्रुप के हिस्सेदारी लेने को लेकर कुछ नहीं कहा गया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि मंत्रालय एयर इंडिया को अपने पास ही रखने के पक्ष में है। टाटा ग्रुप के प्रवक्ता ने एक ईमेल के जवाब में कहा कि हम ऐसे मामलों पर कोई टिप्पणी नहीं करते। इस पूरे घटनाक्रम का एक परिदृश्य बनता है कि 51 फीसदी स्टेक सरकार अपने पास रखे और 49 फीसदी निजी कंपनियों को बेच दिया जाए जिसमें विदेशी कंपनियां भी शामिल हो सकती हैं. एक अन्य विकल्प यह भी है कि एयर इंडिया में कुछ हिस्सेदारी की बिक्री की जाए और उसके बाद एयरलाइन के कर्ज की समस्या से निपटा जाए। बता दें कि 1932 में टाटा एयरलाइन्स के नाम से शुरू की गई इस विमानन कंपनी का बाद में राष्ट्रीयकरण कर दिया गया था। वर्तमान में इस कंपनी पर 52 हजार करोड़ का कर्ज है। बता दें टाटा विस्तारा और एयर एशिया इंडिया, दोनों के साथ संयुक्त उपक्रम में पहले से हिस्सेदार है।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment