कानपुर के ‘कोविंद’ होंगे NDA के राष्ट्रपति उम्मीदवार

loading...

नई दिल्‍ली। राष्‍ट्रपति चुनाव को लेकर बीते कई दिनों से चल रही माथापच्ची के बाद सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष ने बिहार के राज्‍यपाल रामनाथ कोविंद को एनडीए का राष्ट्रपति  उम्मीदवार घोषित कर दिया। बीजेपी ने दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले 72 वर्षीय कोविंद को मैदान में उतारकर विपक्ष की राह और मुश्किल कर दी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी की संसदीय दल की लगभग दो घंटे चली बैठक के बाद कहा कि हमने फैसला किया है कि रामनाथ कोविंद एनडीए की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार होंगे।
इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे। रामनाथ कोविंद 23 जून को अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। बता दें कि अगर यूपी के कानपुर नगर से ताल्लुक रखने वाले कोविंद राष्ट्रपति चुनाव जीतते हैं तो आर.के.नारायणन के बाद दूसरे दलित राष्ट्रपति होंगे।
रामनाथ कोविंद के बारे में खास बातें
1- राम नाथ कोविंद का जन्म 01 अक्टूबर 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था।
2- कानपुर यूनिवर्सिटीसे बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है।
3- कोविंद की शादी 30 मई 1974 को सविता कोविंद से हुई थी। कोविंद के एक बेटा और एक बेटी हैं।
4- कोविंद पेशे से वकील रहे हैं। कोविंद ने दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में 16 साल तक प्रैक्टिस की।
5- रामनाथ 1977 से 1979 तक केंद्र सरकार के वकील रहे थे। 1980 से 1993 तक केंद्र सरकार के स्टैंडिग काउंसिल में थे।
6- वकील रहने के दौरान कोविंद ने दलितों के लिए मुफ़्त में क़ानूनी लड़ाई लड़ी।
7- आदिवासी, होम अफ़ेयर, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, सामाजिक न्याय, क़ानून न्याय व्यवस्था और राज्यसभा हाउस कमेटी के भी चेयरमैन रहे।
8- कोविंद गवरनर्स ऑफ इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के भी सदस्य रहे हैं। 2002 में कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र के महासभा को भी संबोधित किया था।
9- कोविंद को 08 अगस्त 2015 को बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया। इससे पहले वो दो बार राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। यूपी से 1994 से 2000 और फिर 2000 से 2006 तक राज्यसभा सांसद रहे।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment