मिस्बाह का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास 2016 में पाकिस्तान को बनाया था नंबर-1

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में एक मिस्बाह उल हक ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टेस्ट में पाकिस्तानी टीम ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर कप्तान मिस्बाह उल हक को शानदार विदाई दी। 42 वर्षीय मिस्बाह करियर के अंतिम टेस्ट में कोई बड़ा कमाल नहीं कर सके। वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में मिस्बाह 59 और 2 रन ही बना सके।
साल 2016 में पाक को बनाया नंबर-1
28 मई को 43 साल के होने जा रहे मिस्बाह के लिए साल 2016 शानदार रहा। इसी साल पाकिस्तान टीम मिस्बाह की कप्तानी में पहली बार टेस्ट में नंबर एक पायदान पर पहुंची। बता दें कि मिस्बाह उल हक ने 74 टेस्ट की 130 पारियों में 10 शतक और 38 अर्धशतक के साथ 5161 रन बनाये। जबकि 162 वनडे में 42 अर्धशतकों के साथ 5122 रन बनाये। वनडे क्रिकेट में मिस्बाह का सर्वोच्च स्कोर नाबाद 96 रन है।
ऑस्ट्रेलिया से हारने के बाद लिया था फैसला
करियर में बडे उतार-चढ़ाव देखने वाले पाकिस्तानी कप्तान मिस्बाह उल हक ने ऑस्ट्रेलिया के हाथों सीरीज में शर्मनाक हार के बाद कहा था कि अगर मैं अपनी भूमिका सही तरीके से नहीं निभा पा रहा हूं और मेरे बल्ले से रन नहीं बन पा रहे हैं तो मुझे नहीं लगता कि मुझे करियर और आगे बढ़ाना चाहिए।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment