बाबरी केस में ‘सुप्रीम’ फैसला, आडवाणी, जोशी समेत 12 पर चलेगा का केस

loading...

नई दिल्ली। बाबरी विध्वंस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय मंत्री उमा भारती समेत 12 नेताओं पर आपराधिक साजिश का केस चलाने का आदेश सुनाया है। वहीं इस मामले में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मौजूदा वक्त में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह पर संविधानिक पद पर होने के कारण केस नहीं चलेगा। पद से हटने के बाद उन पर केस चल सकता है। कोर्ट ने कहा कि स्पेशल कोर्ट 2 साल में मामले की सुनवाई पूरी करे। वहीं कोर्ट ने मामले से जुड़े जजों के तबादले पर रोक लगा दी गई है। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया है कि इस मामले में रोजाना उनका वकील कोर्ट में मौजूद रहे।
‘ऐसा अपराध जिसने सेक्युलर फेब्रिक्स को हिला दिया’
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोर्ट के पास यह अधिकार और उसकी डयूटी है कि वह किसी मामले में पूरा न्याय दे। यह अपराध जिसने देश के संविधान के सेक्युलर फेब्रिक्स को हिला दिया वह 25 साल पहले हुआ था। यह आरोपी इस केस में सही तरह से बुक नहीं किए गए क्योंकि सीबीआई ने आरोपियों को लेकर केस को सही तरीके से ज्वाइंट ट्रायल के लिए आगे नहीं बढ़ाया।
‘राज्य सरकार चाहती तो नौबत यहां नही आती’
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्य सरकार ने तकनीकी खामी को दूर नहीं किया जो आसानी से हो सकती थी। उस वक्त सीबीआई को राज्य सरकार की तकनीकी गड़बड़ी को दूर कराने के प्रयास करने थे, जो आसानी से हो सकते थे। वह मामले को हाईकोर्ट मे चुनौती देती तो यह नौबत नहीं आती और ज्वाइंट ट्रायल होने के बाद अब तक फैसला आ चुका होता।

loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment