मणिपुर में पहली बार BJP की सरकार, बीरेन बने CM

loading...

इंफाल (एजेंसी) मणिपुर में पहली बार भाजपा गठबंधन की सरकार बन गई है। राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने एन बीरेन सिंह को मुख्यमंत्री पद जबकि एनपीपी के वाई ज्वॉयकुमार को मणिपुर के उप-मुख्यमंत्री पद के रूप में शपथ दिलाई है विमान में खराबी के कारण बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और वेंकैया नायडू बीरेन सिंह के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो सकें। बता दें कि मणिपुर की राजनीति ये पहला मौका है, जब भाजपा की सरकार वहां बनी हो। मणिपुर की 60 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा को 32 विधायकों का समर्थन प्राप्त है, जिनमें सहयोगी पार्टी एनपीएफ के चार विधायक शामिल हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा है कि राज्य में महीनों से जारी नाकेबंदी खत्म करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।
फुटबॉलर से मुख्यमंत्री तक का सफर

loading...

राजनीति में आने से पहले एन बीरेन सिंह राष्ट्रीय स्तर के फुटबॉलर थे और उसके बाद उन्होंने लंबे अरसे तक पत्रकारिता की। इसके बाद 2002 में राजनीति में आ गये। बीरेन ने अपना राजनीतिक सफर क्षेत्रीय पार्टी डेमोक्रेटिक पीपुल्स पार्टी से किया और वह मणिपुर की हेनगांग विधानसभा सीट से विधायक का चुनाव जीते। साल 2004 में डेमोक्रेटिक पीपुल्स पार्टी का कांग्रेस में विलय हो गया। इसके बाद उन्होने साल 2007 और 2012 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की। बीरेन ने इस दौरान कांग्रेस सरकार में कई मंत्रालयों का कार्यभार संभाला। वह मणिपुर के पूर्व मुख्यमंत्री इबोबी सिंह के खास सहयोगी माने जाते थे। साल 2017 के चुनावों में वह बीजेपी की टिकट पर हेनगांग विधानसभा से चुनाव लड़े और जीत हासिल की। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार को हराया। बता दें कि गोवा के बाद मणिपुर दूसरा ऐसा राज्य है, जहां 2017 के विधानसभा चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में नहीं उभरने के बाद भी भाजपा गठबंधन की सरकार बनी है।


loading...

Related Posts

About The Author

Add Comment